Short Stories

सिंह द्वारा उपकार का बदला!

यूनान में दास प्रथा थी। एक धनी पुरुष के यहाँ एक एवड्रेयो कुल्यीज नामक दास था। उन दिनों यह दास पशुवत् बिकते थे और उनसे पशुवत व्यवहार किया जाता था। वह दास कष्टों से ऊबकर, जंगल में भाग गया। जंगल में उसने पीड़ा भरी गर्जन सुनी। वह आगे बढ़ा तो देखा  कि एक शेर पाँव में असह्य पीड़ा होने से तड़प रहा था। दास ने सोचा मुझे मरना तो है ही, तब कर्त्तव्यों से क्यों चूक जाऊँ? उसने शेर के पाँव में से एक लम्बा काँटा निकाल दिया और आगे चला गया। कुछ दिनों के बाद दास पकड़ा गया और उसे मौत की सजा दी गई। उसे एक कोठरी में बन्द करके तीन दिन का भूखा शेर उस पर छोड़ दिया गया। शेर दास पर एक दम झपटा किन्तु उस मनुष्य को सूंघ कर वापस पिंजड़े में चला गया। क्योंकि अपने उपकारी का वह अपकार कैसे कर सकता था।?

Share:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *