Short Stories

सन्तोषी सदा सुखी

एक बार सम्राट सिकन्दर ने अपने एक सेनापति से रुष्ट होकर उसे सामान्य सैनिक बना दिया। किन्तु वह सैनिक पहले की अपेक्षा अब अधिक खुश रहता। तब एक दिन सिकन्दर ने पूछा- सैनिक! तुम्हारी इतनी अवनति कर दी गई फिर  भी इतने खुश क्यों? सैनिक ने कहा-जितनी उपाधियाँ कम होती हैं उतनी चिंतायंे भी कम होती हैं तथा अधिक से अधिक देश और अपने बंधुओं की सेवा करने का मौका मिलता है फिर संतोष तो हर हालत में करना ही चाहिये। सिकन्दर ने खुश हो उसे फिर सेनापति बना दिया।

Share:

Leave a Reply

%d bloggers like this: