सेठ (श्रेष्ट ) बनो।

पैसे वाले सेठ नहीं, वे बड़े गरीब होते हैं,

दिन-रात पैसे के पीछे भागते हैं।

उनके पास कुछ है – पैसा है,

सब कुछ नहीं ,शान्ति नहीं।

संत, सेठ होते हैं,पैसे के पीछे नहीं भागते।

उनके पास कुछ नहीं किन्तु सबकुछ है;

इसीलिए सेठ हैं।

पैसे वाला सेठ नहीं, संत सेठ (श्रेष्ट) होता हैं।

सेठ बनना है तो शान्तमन – संत बनो।

Share:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *