Short Stories

ममत्व क्या है?

एक महात्मा ने राजा जनक से पूछा, “ममता का क्या मतलब है ?”

राजा ने कहा, “उचित समय आने पर इस प्रशन का उत्तर दूँगा।” एक दिन दोनों नदी में स्नान कर रहे थे, तभी चौकीदार ने आकर कहा, “महाराज !गजब हो गया।”

जनक ने पूछा “क्या हुआ?”

वह बोला, “महल जल गया।”

जनक पूर्ववतः स्नान करते रहे। परन्तु महात्मा दौड़ पडे़। थोड़ी देर बाद वापस आए, तो जनक ने पूछा, “कहाँ गए थे ?”

महात्मा बोले आपने सूना नहीं, महल जल गया है।

जनक बोले, “महल तो मेरा जल गया, आपको दौड़ कर जाने की क्या जरूरत थी?’

महात्मा बोले ,”महल बेशक आपका था, पर उसमें मेरी लंगोटी सूख रही थी ?’

जनक ने कहा, “बस’! इसी का नाम ममत्व है । आपकी लंगोटी और महल मेरा, यही ममता है।”

Share:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *