Short Stories

हमने लखी सामने साँची

कबीर के बढ़ते हुए प्रभाव से कुछ पंडित लोग बड़े क्षुब्ध थे। बड़े-बड़े वेदपाठी पंडितों ने संत कबीर को अपमानित करने का संकल्प कर लिया। वे कबीर के पास पहँचे और उनसे पूछा – आपने कौन -कौन से वेद पुराण पढ़े हैं? कबीर ने कहा, मैंने कोई वेद पुराण नहीं पढ़े है। तब पंडितों ने कहा – फिर आप उपदेश किस विषय का देते हो?

कबीर ने कहा – तुमने लिखी लिखाई बांची, हमने लखी सामने सांची। इस गूढ़ उत्तर को सुनकर पंडित लोग निरुत्तर होकर भिन्नाते हुए चले गए।

Share:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *