Short Stories

देवत्व भी छिपा है

रामकृष्ण परमहंस की धर्मपत्नी शारदा अपनी पति से मिलने वीहड जंगल में होकर अकेली जा रही थी। रास्ते में भयानक बाग्दी नामक डाकू ने कहा- “कौन है तू?”

“तुम्हारी बिटिया।” बिटिया शब्द सुनते ही उस खूखांर डाकू का देवत्व जाग उठा। उसने शारदा को स्नेह पूर्वक भोजन कराया और स्वयं जाकर उसे उसके पति के पास भेज दिया।

Share:

Leave a Reply

%d bloggers like this: