Short Stories

Short Stories regarding Philosophical concepts, motivation, great persons
Stories taken from Sanmati Sandesh (an earlier monthly Jain Magazine)

Short Stories

प्रायश्चित

सागर (म. प्र.) में उनको आवश्यकता थी ईंधन की। तभी देखा एक दुबला-पतला बूढ़ा आदमी लकड़ी भरी बैलगाड़ी ला रहा ...
Short Stories

मुझे इनकी माँ को निपूती नहीं बनाना है!

द्रौपदी के पाँचो पुत्रों की लाशें पड़ी थीं उसके आगे। माँ के सभी पुत्र मर जायें- इससे बढ़कर उसके लिए और ...
Short Stories

आज से मैं ही तेरा बेटा।

बड़े-बड़े नेत्र, चौड़ा ललाट, विशाल भुजाएँ, चौड़ी छाती। सुन्दर-सुगठित शरीर। ऐसे थे महाराज छत्रसाल। प्रजा का हाल-चाल लेने के लिए ...
Short Stories

होनहार सुनिश्चित है

गंगा के किनारे एक नाविक लोगों को नाव में बिठलाकर नदी के दूसरे घाट पर ले जाता था। उसका यही ...
Short Stories

कौन किसका कर्त्ता है?

भरत चक्रवर्ती का पुत्र मारीच तीर्थंकर ऋषभदेव की दीक्षा के समय चार हजार राजाओं के साथ मुनि बन गया। ऋषभदेव ...
Short Stories

मृत्यु महोत्सव का स्वागत

यशोधर राजा के राज में एक सत्यनिष्ठ स्पष्टवादी लेखक और कवि रहता था। यदा कदा वह राजा के गलत और ...
Short Stories

निरीह दानी

युग बीते, शताब्दियां बीत गई, किन्तु जगडुशाह का दान आज भी अपनी असामान्य विशेषताओं के कारण इतिहास का प्रेरक सत्य ...
Short Stories

जहाँ मैं हूँ, वहाँ मृत्यु नहीं?

कविवर पं. भागचंद जी जीवन के अन्तिम दिनों में मरणासन्न अवस्था में शांत पड़े थे। उससे एक दिन पूर्व उन्होंने ...
Short Stories

संसार की बेड़ी

नारायण नामक एक बालक बचपन से ही संसार से विरक्त सा रहता था। उसका अधिक समय भजन-पूजन, ज्ञान, ध्यान एवं ...
Short Stories

भेदविज्ञानी को कष्ट कैसा?

वही सुकुमाल जिन्हें मखमली गद्दों पर एक राई का दाना चुभ रहा था, दिये के प्रकाश में आँसू आ गये ...