Short Stories

कुशासन

कनफ्यूशियस अपने कुछ शिष्यों सहित नाई नामक पहाड़ी के पास से गुजर रहे थे कि उन्हें कुछ दूरी पर किसी ...
Short Stories

शान्ति का आधार

गृहस्थी में पति पत्नी की कभी एक समय भी नहीं बनती थी। रात दिन लड़ाई झगड़े से उन दोनों का ...
Short Stories

निर्लिप्तता

एक वैज्ञानिक ने बैंक में सत्तर हजार रुपये जमा करवाये हुए थे, जो उसके जीवन की कुल बचत थी। उस ...
Short Stories

सबसे बड़ा आश्चर्य

वन में युधिष्ठिर के चारों भाई सरोवर के किनारे मृतक के समान पड़े थे। प्यास और भ्रातृ शोक से व्याकुल ...
Short Stories

अर्घावतारन असिप्रहारन में सदा समता धरन

महाराज श्रेणिक ने धर्म विद्वेषवश यशोधर मुनिराज के गले में एक मरा हुआ सर्प डाल दिया और राजभवन में जाकर ...
Short Stories

विकार की पतन है

वह धर्मात्मा गृहस्थ मुनिराज के पास बैठा धर्मोंपदेश सुन रहा था, उसे अपने आत्म संयम पर बड़ा गौरव था। उसी ...
Short Stories

निमित्त उपादान में कुछ नहीं करता

एक मुनिराज विहार करते हुए नगर के पास से जा रहे थे। इतने में एक भक्त उनको देखकर चरणों में ...
Short Stories

शरणागत की रक्षा

भगवान शांतिनाथ अपने पूर्व भव में मेघरथ नाम के राजा थे। एक दिन राजा मेघरथ राजसिंहासन पर बैठे हुए थे। ...
Short Stories

तत्वज्ञानी का विश्वमैत्री भाव

आचार्यकल्प पं॰ टोडरमल जी एक प्रतिभाशाली असाधारण विद्वान तो थे ही किन्तु साथ ही अलौकिक महापुरुष भी थे। इनकी विद्वत्ता ...
Short Stories

आत्मा का रोग – राग – द्वेष – मोह

सनतकुमार चक्रवर्ती का शरीर बहुत सुन्दर था, देवों की सभा में उनकी सुन्दरता की चर्चा हुई। दो देव उनकी सुन्दरता ...