Short Stories

सौहार्द का रहस्य

राजा शातवाहन के राजपन्त्री के परिवार में एक सौ से भी अधिक व्यक्ति थे। वे सभी बड़े प्रेम से रहते ...
Short Stories

वस्तु विज्ञान ही सच्चा त्याग है

छात्रावस्था में विद्यालय की ओर से एक नदी के किनारे सहभोज था। वह नदी छोटी थी किन्तु रेत बहुत थी। ...
Short Stories

भौतिक जीवन कामना के छिद्र

एक सज्जन ने पूछा – भगवान की पूजा करके भी मेरे संकट दूर क्यों नहीं होते? मैंने कहा – विद्यार्थी ...
Short Stories

दूध का दूध और पानी का पानी

एक छोटे गांव में एक गूजरी रहती थी। उसके दो भैंसे थी। वह प्रतिदिन शहर में दूध बेचने के लिए ...
Short Stories

सुख शांति के लिये

सिकन्दर जब विजय करने के लिये भारत में आकर सिन्धु नदी के किनारे डेरा डाले पड़ा था। वह अपने गुरु ...
Short Stories

धर्म को न छोड़ दें

सेनापति! एक रथ में बैठाकर सीता को तीर्थ यात्रा करा दो। यात्रा कराने के बाद सिंहाटवी में अकेली छोड़कर तुम ...
Short Stories

संसारी की दशा

चन्द्रप्रभु तीर्थंकर अपने पूर्वभव में एक राजकुमार थे। एक दिन उन्होंने देखा कि सामने तालाब में कमल को देखकर हाथी ...
Short Stories

पेशा से वकील-जीवन से साधु

एक व्यक्ति अपनी अकेली विधवा चाची की सम्पत्ति हड़पना चाहता था। वह कई वकीलों के पास गया किन्तु संतोषजनक आश्वासन ...
Short Stories

ज्ञान का सदुपयोग

उनके परम मित्र स्मिथ ने कहा – इस समय विश्व में आपका ज्ञान सर्वोपरि माना जा रहा है। विश्व का ...
Short Stories

शरीर की परख करने वाले चमार हैं!

अष्टाव्रक का शरीर गर्दन से लेकर पांव तक आठ जगह टेढ़ा था। एक बार वे जनक जी की सभा मे ...