Short Stories

किसको कौन आधार

श्रेणिक का पुत्र वारिषेण भगवान महावीर के समवसरण में जाकर दीक्षा लेने चल दिया। श्रेणिक ने कहा – बेटा! इस छोटी सी उम्र में ही इतना वैभव और इतनी रानियों को किसके भरोसे छोड़े जा रहे हो  सारा वैभव चरण चूमता ,शचीसम सुन्दर नारी। इनको छोड़ कहाँ जाता है बेटा तू सुकुमार! तब वारिषेण ने उत्तर दिया- किसको कौन अधार पिता जी सब अपने आधार। पर को जो आधार बनाता वह मूरख सरदार।

Share:

Leave a Reply

%d bloggers like this: