Daily Archives: December 19, 2013

Short Stories

फिर अभिमान कैसा

सस्ते जमाने में एक पैसे की एक सेर भर भाजी  मिलती थी। तब खरीददार दुकानदार से कहता भाई! ...
Short Stories

दृढता का सुफल

दिल्ली के ब्र॰ बाबा लालमनदास में अपने धर्म की श्रद्धा और लगन अपूर्व थी। वे निरन्तर आत्मसाधना एवं ...
Short Stories

कहाँ क्या शक्ति छिपी है?

भगवान महावीर को केवलज्ञान प्रकट हो चुका था, किन्तु दिव्यध्वनि नहीं खिर रही थी। इस प्रकार लगातार 66 ...
Short Stories

कुमारपाल की करुणापूर्ण सूझबूझ

जैन सम्राट कुमारपाल के राज्यकाल में भी कुछ लोग कंटकेश्वरी देवी के समक्ष पशुओं का बलिदान करते थे। ...
Short Stories

न्याय

एक बार एक रानी ने नदी में स्नान कर ठंड मिटाने के लिए एक गरीब के झोपड़ी में ...
Short Stories

कल्याण किसका

भगवान महावीर तपस्या कर रहे थे। सौधर्म इन्द्र ने सोचा-भगवान विश्व को पाप और दुःख से छुड़ा कर ...
Short Stories

बहिर्मुख दृष्टि से अपना परमात्मा नहीं मिलता

फ्रांसिस अपने बड़े भारी अमीर पिता के पुत्र थे, वे बहुत सुन्दर रेशमी वस्त्र पहिनते थे। एक बार ...
Short Stories

स्थितिकरण

आचार्य श्री शांतिसागरजी के दीक्षा गुरु श्री आदिसागरजी ने मुनिदीक्षा के बाद किसी से यह सुना कि पंचमकाल ...
Short Stories

चर्मचक्षु और ज्ञानचक्षु

एक बार बीरबल और अकबर में यह सवाल उठा कि संसार में आँखों वाले अधिक हैं या अन्धे? ...
Short Stories

किसको कौन आधार

श्रेणिक का पुत्र वारिषेण भगवान महावीर के समवसरण में जाकर दीक्षा लेने चल दिया। श्रेणिक ने कहा – ...