Daily Archives: November 29, 2013

Short Stories

मैं खून नहीं पी सकता

महात्मा गांधी ने कहा है- ’मैंने गुरु नहीं बनाया; किन्तु मुझे कोई गुरु मिले हैं तो वे हैं- ...
Short Stories

सन्तोषी सदा सुखी

एक बार सम्राट सिकन्दर ने अपने एक सेनापति से रुष्ट होकर उसे सामान्य सैनिक बना दिया। किन्तु वह ...
Short Stories

धर्म की आवश्यकता

एक जिज्ञासु ने मुनिराज से पूछा- ’स्वामिन्! दुनिया में इतना छल,कपट, झूठ, चोरी, व्यभिचार और खून खराबी चल ...
Short Stories

जीवन में जैनत्व का महत्व

पं॰ गोपालदास जी बरैया अपनी पत्नी और बच्चे के साथ मुरैना से बम्बइ जा रहे थे। रास्ते में ...
Short Stories

मारने का अधिकार नहीं

शान्ति-निकेतन मे एक कुत्ता सख्त बीमार था। कष्ट अधिक था, उसे छटपटाते देख कर एक प्रोफेसर ने कहा, ...
Short Stories

जोश और देरी !

सीता को पंचवटी में से रावण चुराकर ले गया। राम उसकी खोज करते रहे। जब राम को मालूम ...
Short Stories

मन की पवित्रता

एक बार वाराणसी में प्रातःकाल की मधुर बेला मे लोग गंगा स्नान कर रहे थ। गहराई की आशंका ...
Short Stories

दया का मूल्यांकन

एक बार द्वारका नगरी में एक सर्प निकल आया। लोग उसे पत्थरों से मारने लगे । एक दयालु ...
Short Stories

भूल का एहसास

युनान का एक जमींदार महात्मा सुकरात के सामने अपने वैभव की गर्व से बड़ाई कर रहा था। कुछ ...
Short Stories

धनि धन्य है जो जीव नरभव पाय यह कारज किया!

एक धनवान सेठ के पुत्र की किसी निर्धन पड़ौसी के लड़के के साथ घनिष्ट मित्रता हो गई। दोनों ...