Daily Archives: October 24, 2013

Short Stories

विशाल हृदय

पाण्डवों को बनवास देकर कौरव खुशियाँ मना रहे थे। कौरव लोग खुशियाँ मनाने गंधर्वबाग को उपयक्त समझकर पहुँचे। ...
Short Stories

श्रद्धा के बिना चरित्र

उसकी नाव टूट चुकी थी, उसमें चमकदार सुनहरी कागज चिपका दिया। अन्धा होने से उसने अपनी आँखों पर ...
Short Stories

सब से प्रेम करो

इस छोटी सी जिन्दगी में हम कसौटी पर हैं। इस संसार में जो कुछ थोड़े दिन हमें रहना ...
Short Stories

मूर्ति बोलती है

एक बार अकबर ने बीरबल से कहा – तुम लोग बुतपरस्त (मूर्तिपूजक) बनकर पत्थर को पूजते रहते हो। ...
Short Stories

ज्ञान लाभ

एक बार एक शिष्य ने अपने पूज्य गूरु से पूछा – बहुत से पण्डित लोग अनेक शास्त्रों का ...
Short Stories

मैं कौन हूँ?

तत्त्व की खोज में जर्मन के दार्शनिक विद्वान कांट एक प्रज्ञाचक्षु संत के पास पहुँचे। जब वे संत ...
Short Stories

दर्शन पूजा का नाटक

एक सेठ जल्दी जल्दी में पूजा कर रहे थे क्योंकि उनको कहीं जाना था, किन्तु पूजन का नियम ...
Short Stories

भारी नहीं , भाई है

एक बिशप पहाड़ी पर चढ़ रहा था। उसी समय छह-सात वर्ष की एक लड़की अपने दो साल के ...
Short Stories

श्रेष्ट साधक कौन ?

एक बार मुनिराज से उनके एक शिष्य ने प्रश्न किया-भगवन्,श्रेष्ट साधक के क्या लक्षण होते हैं? मुनिराज ने ...
Short Stories

संसार की विचित्रता

जिस सीता को पाने के लिए साधन विहीन होते हुए भी राम ने जंगल मे साधन जुटाकर उस ...