Daily Archives: October 9, 2013

Short Stories

अंडे किसी की थाती हैं!

एक बार पैगंबर साहब खुदा की याद में मस्त थे। उन्हें देखकर पास ही काम करने वाला एक ...
Short Stories

कसाई का पश्चाताप

मंगलू कसाई ने शाम को छह बकरे और चार बकरियां मैटाडोर से उतरवा कर अपने मकान में पिछवाड़े ...
Short Stories

ज्ञान की पिपासा

न्यायमूर्ति महादेव गोविन्द रानाडे को भाषएं सीखने का शौक था, जिसके कारण उन्होंने अनेक भाषाओं का अध्ययन कर ...
Short Stories

अपनी अपनी दृष्टि

बाप बेटे दोनों एक आम के वृक्ष के नीचे से जा रहे थे। लड़के ने वृक्ष पर एक ...
Short Stories

दृष्टि में दुःख

मैला चित्त ही कर्मो का संचय करता है वे बहुत दुखदाई होते हैं। एक महिला ने पतीले में ...
Short Stories

दुःखी की सेवा – मानव धर्म

अब्राहम लिंकन जब किशोरावस्था में अपने सहपाठियों के साथ खेल रहा था तभी देखा कि सामने एक घोंड़ा ...
Short Stories

बिना आत्म-ज्ञान के विराग अकार्यकारी है

शुकदेव विशेष ज्ञानी थे, संयम की मूर्ति थे,  किन्तु उन्हें अपने में कोई अभाव अनभव होता था। उनके ...
Short Stories

मात्र ज्ञाता हूँ

एक नगर में ३० कुटुम्बियों का परिवार सुख शांति पूर्वक रहता है। सबकी अपनी अपनी दुकानें किन्तु एक ...
Short Stories

किसी का दोष नहीं, अपनी करनी का दोष है

कृतांतवक्र सेनापति ने सीता को सिंह-वन में उतार दिया। सीता ने पूछा यहाँ कौन से तीर्थस्थान है, जो ...
Short Stories

भाव हिंसा का फल

मध्यलोक के अंतिम समुद्र में एक राघव मच्छ एक हजार योजन लम्बा रहता है। उसकी आँखों की पलकों ...