Daily Archives: October 2, 2013

Short Stories

प्रायश्चित

लोहाचार्य ने अपनी उदर पीड़ा से पीछा छूटते न देखकर अपने गुरु से समाधिमरणकी प्रतिज्ञा ले ली किन्तु ...
Short Stories

पुरूषार्थ की विजय

टालस्टाय बड़े सवेरे टहलकर घर वापस आये ही थे कि एक हट्टे कट्टे युवक ने सहायता की भीख ...
Short Stories

सहृदयता

जंगल में एक किसान झोपड़ी बनाकर रहता था, झोंपड़ी में कुल एक आदमी के सोने की जगह थी। ...
Short Stories

सेवा निस्वार्थ हो

अफ्रीका मे रंगभेद नीति के विरूद्ध क्रान्ति करने के पश्चात् महात्मा गांधी जब भारत आने लगे तो सब ...
Short Stories

दुश्मनी को मारो

अमेरिकी राष्ट्रपति लिंकन अपने विरोधियों के साथ भी बड़ा नर्म रुख अपनाते थे। वह उनसे विनम्रता से पेश ...
Short Stories

मापदण्ड

एक बालक ने अपनी माँ से पूछा – “माँ, बबूल का पेड़ बिना देख-रेख के बढ़ जाता है। ...
Short Stories

जो चाहता है नाम-नीचे उसका धाम!

चीन की अभेद्य दीवाल का निर्माता ‘शी हुआंग टी’ प्रथम बादशाह ने चाहा कि उसका नाम अमर बना ...
Short Stories

सुख दुःख

एक गाँव के धर्मशाला में दो व्यक्ति आकर ठहर गये। वह धर्मशाला बहुत गन्दी थी क्योंकि उसमें कभी ...
Short Stories

सुन्दरता रूप से या गुण से

कालिदास का काव्य सुनकर एक राजा बहुत प्रसन्न हुआ। राजा ने कहा-कवि कालिदास की बुद्धि जितनी सुन्दर है ...
Short Stories

शक्ति का सदुपयोग

किसी सेठ ने मरते समय अपने इकलौते छोटे बच्चे के गले में बहूमूल्य मोतियों का कंठा बांध दिया ...